उत्तराखंड में को-ऑपरेटिव बैंकों के लिए 233 पदों पर भर्ती

0
45
Recruitment on co-operative banks
Dr Dhan singh rawat

Recruitment on co-operative banks

देहरादून। उत्तराखंड सहकारिता विभाग इस महीने 21, 22 और 23 जून को डिस्ट्रिक्ट को-ऑपरेटिव बैंकों में विभिन्न पदों के लिए आईबीपीएस परीक्षा आयोजित करने की तैयारी कर रहा है। रजिस्ट्रार सहकारिता, आलोक कुमार पांडेय ने बताया कि यह आगामी परीक्षा कुल 233 पदों के लिए आयोजित की जाएगी, जिसमें बड़ी संख्या में प्रतिभागी भाग लेंगे। परीक्षा में 21,782 प्रदेश के युवाओं के भाग लेने की उम्मीद है। परीक्षा के सुचारू संचालन के लिए आईबीपीएस ने विभिन्न शहरों में परीक्षा केंद्र स्थापित किए हैं, जिनमें देहरादून, हल्द्वानी, रुड़की, लखनऊ, मेरठ और नई दिल्ली शामिल हैं।

परीक्षा का शेड्यूल और पदों का विवरण

क्लर्क/कैशियर (ग्रुप-3)
– पदों की संख्या: 162
– आवेदकों की संख्या: 14,392
– परीक्षा की तिथि: 22 जून 2024
– समय: 4.30 पीएम से 6.30 पीएम (इवनिंग शिफ्ट)

जूनियर ब्रांच मैनेजर (ग्रुप-2)
– पदों की संख्या: 54
– आवेदकों की संख्या: 5,777
– परीक्षा की तिथि: 22 जून 2024
– समय: 12.30 पीएम से 2.30 पीएम (सेकेंड शिफ्ट)

सीनियर ब्रांच मैनेजर (ग्रुप-1)
– पदों की संख्या: 9
– आवेदकों की संख्या: 1,202
– परीक्षा की तिथि: 22 जून 2024
– समय: 4.30 पीएम से 6.30 पीएम (इवनिंग शिफ्ट)

असिस्टेंट मैनेजर
– पदों की संख्या: 6
– आवेदकों की संख्या: 277
– परीक्षा की तिथि: 23 जून 2024
– समय: 3.00 पीएम से 5.00 पीएम (आफ्टरनून शिफ्ट)

मैनेजर
– पदों की संख्या: 2
– आवेदकों की संख्या: 134
– परीक्षा की तिथि: 21 जून 2024
– समय: 8.30 पीएम से 10.30 पीएम (प्रथम शिफ्ट)

परीक्षा केंद्र

परीक्षा केंद्र देहरादून, हल्द्वानी, रुड़की, मेरठ, लखनऊ, और नई दिल्ली में बनाए गए हैं। इन केंद्रों पर आईबीपीएस परीक्षा का संचालन करेगा।

सहकारिता मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने बैंकिंग कार्मिक चयन संस्थान (आईबीपीएस) के माध्यम से को-ऑपरेटिव बैंकों के लिए क्लर्क और मैनेजर की भर्ती करने के निर्णय की सराहना की। उन्होंने कहा कि दूसरी बार आईबीपीएस के माध्यम से परीक्षा आयोजित करने का उद्देश्य चयन प्रक्रिया में पारदर्शिता और उत्कृष्टता सुनिश्चित करना है। यह पहल उम्मीदवारों और आम जनता में विश्वास और भरोसा पैदा करती है।

डॉ. रावत ने यह भी बताया कि को-ऑपरेटिव बैंकों की सफलता और क्षेत्र की अर्थव्यवस्था के विकास में योगदान देने के लिए योग्य, ईमानदार और कुशल व्यक्तियों का चयन आवश्यक है। यह कदम सहकारी बैंकिंग क्षेत्र के विकास और सफलता में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here