एलन देहरादून ने किया करगिल शहीदों के परिजनों का सम्मान

0
41
Kargil martyrs families honored

Kargil martyrs families honored

देहरादून। परमवीर चक्र विजेता सूबेदार मेजर ऑनरेरी कैप्टन योगेन्द्र सिंह यादव ने यह एलन करियर इंस्टीट्यूट देहरादून की ओर से आयोजित शौर्य वंदन कार्यक्रम में शहीदों के परिवारों के सम्मान के दौरान कहा देश आगे बढ़ रहा है, क्योंकि हम सुरक्षित हैं। कोई हैं जो हमारी सुरक्षा के लिए प्राणों की बाजी लगाकर हमें खुली हवा में जीने की आजादी दे रहे हैं। इस बलिदान को याद रखते हुए आइए, हम भी दूसरों के लिए जीना सीखें। अपने परिवार के साथ समाज और देश की सेवा का जज्बा मन में रखें, तभी जीवन सार्थक होगा।

समारोह में विद्यार्थियों को सीख देते हुए कैप्टन योगेन्द्र ने कहा कि सेना का सम्मान देश का सम्मान है, जिस तरह एक योद्धा देश के लिए लड़ता है ठीक उसी तरह एक विद्यार्थी को भी देश को आगे ले जाने के लिए संकल्पित रहना चाहिए। पढ़ाई में भी टारगेट लेकर उसकी प्राप्ति के लिए पूरे प्रयास होने चाहिए।

एलन करियर इंस्टीट्यूट प्राइवेट लिमिटेड की ओर से देहरादून में करगिल विजय के 25वें वर्ष के तहत शौर्य वंदन कार्यक्रम हिमालयन कल्चरल सेंटर, गढ़ीकेंट, देहरादून में आयोजित किया गया। कार्यक्रम में करगिल युद्ध में देहरादून और आस-पास के अल्मोड़ा, उधमसिंह नगर, चमोली, पौड़ी गढ़वाल, टिहरी, हरिद्वार, पिथौरागढ़, उत्तरकाशी, रुद्रप्रयाग, नैनीताल के 41 शहीदों के परिजनों का सम्मान किया गया। शहीदों के परिजनों को 11-11 हजार के चेक, सम्मान पत्र सौंपे गए। इस दौरान शहीदों के परिजनों ने भी अपने अनुभव साझा किए। इस दौरान कई बार ऐसे क्षण भी आए जब हर किसी की आंख में आंसू आ गए।

कार्यक्रम में शामिल विद्यार्थियों ने खड़े होकर शहीदों के सम्मान में तालियां बजाई और परिजनों को सैल्यूट किया। समारोह में उत्तराखंड सरकार में सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास मंत्री गणेश जोशी ने शहीदों के समर्पण को सैल्यूट करते हुए परिजनों को संवेदना जताई और शहीदों को देश का गौरव बताया। इसके साथ ही कार्यक्रम में डायरेक्टर सैनिक कल्याण देहरादून ब्रिगेडियर अमृत लाल, सचिव सैनिक कल्याण दीपेन्द्र चौधरी, कमांडेंट मिलिट्री कॉलेज देहरादून कर्नल राहुल अग्रवाल, चेयरमैन दून इंटरनेशनल ग्रुप ऑफ स्कूल्स डी एस मान एवं मुख्यमंत्री कार्यालय में मीडिया प्रभारी हरीश कोठारी भी मौजूद रहे। इस अवसर पर मुख्यमंत्री का संदेश भी पढ़कर सुनाया गया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि एलन के निदेशक डॉ. नवीन माहेश्वरी ने शहीदों को नमन करते हुए परिजनों का सम्मान किया। उन्होंने कहा कि एलन करियर इंस्टीट्यूट अपने सामाजिक सरोकार निभाने में आगे रहता है। करगिल विजय के 25 वर्ष पूर्ण होने के अवसर पर शौर्य वंदन कार्यक्रम शुरू किया गया है। इसके तहत पूरे भारत में कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। हम शिक्षा के साथ संस्कार देने में विश्वास रखते हैं। एक सैनिक के जीवन से विद्यार्थी बहुत कुछ सीख सकते हैं। मुख्य रूप से देने का भाव सीखना है, जिस तरह एक सैनिक देश के लिए जान देता है, उसी तरह एक विद्यार्थी को देश को आगे लाने के लिए सकारात्मक सोच रखनी चाहिए।

इस अवसर पर एलन के वाइस प्रसीडेंट एवं जोनल हेड सदानंद वाणी, वाइस प्रसीडेंट मनोज बिंदल, देहरादून सेंटर हेड गिरिश गौड व अन्य सीनियर फैकल्टीज मौजूद रहे।

इन शहीदों के परिजनों का हुआ सम्मान

शहीद आनन्द सिंह, शहीद अनिल सिंह, शहीद भरत सिंह, शहीद बिक्रम सिंह, शहीद बृजमोहन सिंह, शहीद दबल सिंह, शहीद देवेन्द्र सिंह, शहीद दिलवर सिंह, शहीद गिरिश सिंह, शहीद गोविन्द सिंह, शहीद ज्ञान सिंह, शहीद हरी सिंह, शहीद जे एस भंडारी, शहीद जगत सिंह, शहीद जोहर सिंह, शहीद कैलाश कुमार, शहीद कश्मीर सिंह, शहीद कृपाल सिंह, शहीद मदन सिंह, शहीद मंगत सिंह, शहीद प्रताप सिंह, शहीद राजेश गुरूंग, शहीद रामप्रसाद, शहीद रंजीत सिंह, शहीद सतीश चन्द्र, शहीद संजय गुरूंग, शहीद शिवचरण प्रसाद, शहीद सुंदर सिंह, शहीद सुनील दत्त, शहीद विजय सिंह, शहीद तेम बहादुर, शहीद हिम्मत सिंह, शहीद चन्दन सिंह, शहीद मोहन सिंह, शहीद दिनेश चंद, शहीद दिनेश दत्त, शहीद कृष्णबहादुर थापा, राजेन्द्र सिंह, शिवचरण सिंह, बृजेन्द्र सिंह एवं शहीद सुबाब सिंह के परिजनों को समारोह में सम्मानित किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here