श्री केदारनाथ धाम यात्रा: 04 दिन

0
234
Shri Kedarnath Dham Yatra
श्री केदारनाथ

Shri Kedarnath Dham Yatra

श्री केदारनाथ धाम यात्रा 2024 कपाट खुलने के बाद चौथा दिन बेहद खास और ऐतिहासिक रहा, क्योंकि सोमवार को केदारनाथ में पहुंचे श्रद्धालुओं का आंकड़ा एक लाख पार कर गया।

चार दिन में केदारपुरी में 102499 श्रद्धालुओं ने पहुँचकर अपने आप में नया कीर्तिमान खड़ा कर दिया है। भगवान शिव के प्रति आस्था का यह सैलाब हर दिन बढ़ता जा रहा है और इसके साथ ही बढ़ रही है प्रशासन की चुनौतियां। चुनौतियां जीवन में अनुभव और मजबूती लेकर आती हैं, शायद इसीलिए कैलाशपति महादेव ने हिमालय की गोद में अपना निवास बनाया होगा और शायद यह एक मौका है।

बाबा केदारनाथ जी की इस पवित्र यात्रा को सफल और सरल बनाने में जुटे हर व्यक्ति के पास कैलाश पर्वत जैसे मजबूत और दृढ़ बनने का। देश- विदेश से पहुंच रहे भक्तों की यात्रा सुगम और मंगलमय हो इसके लिए करीब 1000 अधिकारी- कर्मचारी, सुरक्षा बल से लेकर अन्य लोग यात्रा को सफल बनाने में अपना योगदान दे रहे हैं। प्रति दिन करीब 25 हजार के औसत से केदारपुरी पहुँच रहे श्रद्धालुओं को कोई असुविधा न हो इसके लिए हर कोई अपनी जिम्मेदारी तत्परता से निभा रहा है।

Shri Kedarnath Dham Yatra :- केदारपुरी में स्वच्छता की जिम्मेदारी संभाल रहे एक पर्यावरण मित्र ने बताया कि पिछले पांच वर्षों से केदारनाथ धाम में स्वच्छता का कार्य कर रहा है और आगे जबतक मौका मिलेगा करता रहेगा। यहां काम करना कठिन जरूर है लेकिन यह किसी काम से ज्यादा सेवा है। जो पुण्य कमाने के लिए लोग रोज नित नए कर्म करते हैं उसका कई गुना यहां एक दिन में कमा लिया जाता है।

बाहर से दर्शनों को यहां पहुँच रहे श्रद्धालुओं को कोई असुविधा न हो कोई अनावश्यक गंदगी न दिखे। इसके लिए नगर पंचायत केदारनाथ और सुलभ इंटरनेशनल हर दिन पूरे यात्रा मार्ग से लेकर केदारपुरी तक हर दिन- हर घंटे रास्तों, शौचालय, पगडंडियों से लेकर अन्य सभी स्थानों की सफाई करते हैं।

विशेष स्वच्छता अभियान के दौरान करीब 80 किलो कूड़ा पर्यावरण मित्रों ने एकत्रित कर निस्तारित किया। पर्यावरण मित्रों ने श्रद्धालुओं से यह अपील भी की है कि केदारनाथ यात्रा को प्लास्टिक फ्री बनाने में अपना सहयोग करें और अपना कूड़ा उचित तरीके से निस्तारित करें। कूड़ेदान का इस्तेमाल जरूर करें और केदारनाथ धाम की स्वच्छता एवं पवित्रता बनाए रखने में अपना योगदान दें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here